सड़कों पर रहें सावधान: दिल्ली में रोडरेज के चलते हर दिन 55 लोग घायल

 

देश की राजधानी दिल्ली में रोडरेज की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं। 2012 में जहां 36 रोडरेज के मामले थे तो 2015 में यह 120 से अधिक हो चुके हैं। यही नहीं, एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार भी दिल्ली का रोड रेज के मामले में चौथा स्थान है। 2015 में कोच्चि, तिरुवनंतपुरम, चेन्नई के बाद दिल्ली में सबसे ज्यादा रोडरेज की घटनाएं हुईं।
ताजा मामले में दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी रोड रेज का शिकार हुए हैं। मनोज तिवारी के घर पर हुए हमले को लेकर दिल्ली पुलिस इसे रोडरेज का मामला बता रही है, वहीं तिवारी का दावा है कि हमलावर हाथ में रॉड लिए हुए थे और उन्होंने उनके बेडरूम तक घुसने की कोशिश की।

बात-बात पर विवाद
एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार साल 2015 में कोच्चि और तिरुवनंतपुरम में रोड रेज के मामलों में 22300 लोग घायल हुए जबकि तीसरा और चौथा स्थान क्रमश: चेन्नई और दिल्ली का रहा। दिल्ली में रोड रेज से जुड़ी सड़क दुर्घटनाओं में 20000 लोग घायल हुए। यानि हर दिन दिल्ली में करीब 55 लोग रोडरेज में घायल होते हैं।
मनोचिकिसकों का कहना है कि रोडरेज के बढ़ते मामलों में ट्रैफिक बुलिंग का अहम योगदान है। इसमें लोग अपनी गलती स्वीकार नहीं करते। वैसे, सड़क जाम होने पर फंसे लोगों के व्यवहार में बदलाव आने लगता है। वाहन चलाते समय ब्लडप्रेशर हाई रहने का मतलब भी है कि आप रोडरेज की वजह या कारण बन सकते हैं।
दिल्ली: ट्रैफिक पुलिस का सर्वे
25 फीसदी रोडरेज गलत तरीके गाड़ी चलाने के कारण
27 फीसदी झगड़े हेडलाइट जलाने और बुझाने के चलते
25 फीसदी मामले लगातार हॉर्न बजाने के कारण होता है
23 फीसदी गलती होने पर गलत तरीके से पेश आने पर
दिल्ली में बढ़ती घटनाएं
2010 में 36
2011 में 37
2012 में 36
2013 में 53
2014 में 93
2015 में 120
(दिल्ली पुलिस द्वारा जारी आंकड़ा)
कुछ बड़ी घटनाएं
2016
22 मार्च- विकासपुरी में डॉ पंकज नारंग को आठ लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला
2015
9 अक्तूबर- कोटला मुबारकपुर में साइड ना देने पर बाइक सवारों ने दो युवकों को गोली मारी।
31 मई – भारत नगर में रोड रेज में दो युवकों ने एक दूसरे की अंगुलियां चबाईं
10 मई – मुंडका में बाइक को धक्का लगने पर डीटीसी चालक की पीटकर हत्या
6 अप्रैल- तुर्कमान गेट इलाके में टक्कर पर बाइक सवार की पीट पीटकर हत्या
13 जुलाई- गोकलपुरी में लालबत्ती पार करने से रोकने पर ट्रैफिक पुलिस को धुना

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s