पर्रिकर आज शाम लेंगे CM पद की शपथ, 16 मार्च को होगा फ्लोर टेस्ट

 

गोवा मे मनोहर पर्रिकर की सरकार के शपथ ग्रहण समारोह पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने गोवा में 16 मार्च को फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया है। आपको बता दें कि इससे पहले गोवा के राज्यपाल ने मनोहर पर्रिकर को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का समय दिया था।

मुख्य न्यायाधीश जे एस खेहर की पीठ ने 16 मार्च को दोपहर 11 बजे विधानसभा सत्र बुलाने का निर्देश दिया और कहा कि सदस्यों के शपथ ग्रहण के बाद सदन का एकमात्र कामकाज शक्ति परीक्षण कराना होगा। पीठ ने निर्देश दिया कि शक्ति परीक्षण के लिए निर्वाचन आयोग संबंधी जरूरी औपचारिकताओं सहित सभी आवश्यक चीजें 15 मार्च तक पूरा कर ली जाएं।
इस मामले की सुनवाई के दौरान कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि उन्होंने सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त की है। याचिककर्ता ने कोर्ट से कहा है कि भाजपा ने सरकार बनाने के लिए संवैधानिक प्रथाओं का उल्लंघन किया।

कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान कांग्रेस से पूछा है कि क्या उन्होंने गोवा में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल से कोई संपर्क किया है क्‍या? कोर्ट ने कांग्रेस से पूछा है कि क्या उनके पास बहुमत के नंबर है? इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सरकार की तरफ से हरीश साल्वे और कांग्रेस की तरफ से मनु सिंघवी ने अपना पक्ष कोर्ट के सामने रखा।

आपको बता दें कि तकरीबन दो साल पहले मनोहर पर्रिकर ने गोवा के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर देश के रक्षा मंत्री का पद संभाला था। अब वह रक्षा मंत्री का पद छोड़कर फिर से गोवा का मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। वह मंगलवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पर्रिकर ने गोवा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार गठित करने के लिए सोमवार को केंद्रीय मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे दिया।

इसके बाद राष्ट्रपति कायार्लय द्वारा जारी बयान में कहा गया है, राष्ट्रपति ने संविधान के अनुच्छेद 75 के खंड (2) के तहत मनोहर पर्रिकर का मंत्रीपरिषद से इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इसके अलावा राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सिफारिश पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है।

भाजपा ने रविवार को पर्रिकर को गोवा में सरकार का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। वह मंगलवार शाम 5 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण करेंगे। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे। गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा पर्रिकर सहित उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी। सिन्हा ने पर्रिकर से शपथ ग्रहण के बाद गोवा विधानसभा में 15 दिनों के अंदर बहुमत साबित करने के लिए कहा है।

पहले भी गोवा की सीएम रह चुके है पर्रिकर

पर्रिकर इससे पहले दो बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। पहली बार अक्टूबर 2000 से फरवरी 2005 तक और दूसरी बार मार्च 2012 से 8 नवंबर 2014 तक। इसके बाद वह रक्षा मंत्री बने थे।

जेटली भी इससे पहले रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाल चुके हैं। मोदी सरकार के गठन पर उन्होंने 26 मई 2014 से 9 नवंबर 2014 तक रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाला था। पर्रिकर ने 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में 21 सदस्यों के समर्थन का दावा किया है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को 13 सीटों पर जीत मिली है। गोवा फॉरवर्ड पार्टी और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पाटीर् के 3-3 सदस्यों ने भाजपा के प्रति समर्थन जाहिर किया है। इसके अलावा दो निर्दलीय विधायकों ने भी अपना समर्थन जताया है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s