लखनऊ में 11 घंटे चले एनकाउंटर में आतंकी सैफुल्ला ढेर, ISIS के खुरासान मॉड्यूल का मेंबर

 

यूपी की राजधानी लखनऊ में ATS का ऑपरेशन खत्म हो गया है. 11 घंटे तक चले ऑपरेशन में एटीएस ने ISIS आतंकी सैफुल्ला को मार गिराया. मध्य प्रदेश में मंगलवार को हुए ट्रेन बम धमाके की जांच के दौरान इस आतंकी मॉड्यूल का खुलासा हुआ था. उसके बाद लखनऊ में एटीएस ने इस आतंकी के अड्डे पर धावा बोला और 11 घंटे तक चले मुठभेड़ में उसे मार गिराया. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने इसकी पुष्टि की.

ISIS के खुरासान माड्यूल का था सदस्य
यूपी पुलिस के मुताबिक आतंकी को जिंदा पकड़ने की हरमुमकिन कोशिश की गई. एटीएस के आईजी ने बताया कि पहले कैमरों में देखने पर ऐसा लग रहा था कि वहां दो आतंकी छिपे हैं, लेकिन अंदर एक ही आतंकी छिपा था. पुलिस ने घर में तलाशी अभियान में आईएसआईएस से जुड़े कई दस्तावेज और भारी संख्या में हथियार और गोला-बारुद बरामद किया है. यूपी एटीएस के मुताबिक आतंकी सैफुल्लाह ISIS के खुरासान माड्यूल का सदस्य था.
लखनऊ के ठाकुरगंज में एनकाउंटर
आपको बता दें कि ठाकुरगंज इलाके में एक घर में आतंकी के छिपे होने की खबर से खलबली मच गई थी. यूपी एटीएस पिछले करीब 11 घंटे से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चला रही थी. पहले खबर आई थी कि एक आतंकी लखनऊ के ठाकुरगंज में हाजी कॉलोनी के एक घर में मौजूद है. इस आतंकी के तार भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन से जुड़े होने का शक जताया जा रहा था. आतंकी का नाम सैफुल्ला बताया गया. जिसके बाद खबर आई कि उसे ढेर कर दिया गया.

आतंकी ने किया था सरेंडर करने से इनकार
पुलिस आतंकी को जिंदा पकड़ना चाहती थी और दोनों ओर से फायरिंग की जा रही थी. ATS और पुलिस की टीम घर में घुस गई. यूपी पुलिस ने पहले संदिग्ध को लखनऊ का ही बताया था. पुलिस के मुताबिक जब आतंकी से सरेंडर करने को कहा गया तो उसने इससे इनकार कर दिया. चूंकि एटीएस संदिग्ध को जिंदा पकड़ना चाहती थी, लिहाजा ऑपरेशन को काफी ऐहतियात से अंजाम दिया गया. उसे बेहोश कर पकड़ने के लिए कमरे में आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए.

इटावा से एक आतंकी गिरफ्तार
आईएसआईएस के इस मॉड्यूल का खुलासा होने के साथ ही कानपुर, इटावा समेत कई जगहों पर छापे मारे गए हैं. इटावा से एक आतंकी गिरफ्तार किया गया है. लखनऊ में एटीएस और आतंकी के बीच हुई मुठभेड़ को लेकर भारत-नेपाल की सीमा पर भी एसएसबी को अलर्ट किया गया है. नेपाल से भारत आने जाने वाले लोगों की सघन जांच की जा रही है. इसके अलावा बॉर्डर पर सीसीटीवी कैमरों की मदद से नजर भी रखी जा रही है.

चिली बम का किया इस्तेमाल
आईजी एटीएस असीम अरुण ने मीडिया को बयान जारी करते हुए कहा था कि हम लोगों ने चिली बम का इस्तेमाल किया. आतंकी ने कमरे से रुक-रुक कर फायरिंग की. उसके पास वेपन्स की संख्या ज्यादा थी. आतंकी को जिंदा पकड़ने का प्रयास किया गया लेकिन बाद में उसे मारना पड़ा.

ट्रेन धमाके में शामिल होने का शक
इससे पहले भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन (59320) उज्जैन की तरफ जा रही थी. कालापीपल में जबड़ी स्टेशन के पास सुबह करीब 10 बजे ट्रेन में जोर का धमाका हुआ. धमाके में चार लोग जख्मी हुए जबकि ट्रेन के एक हिस्से की छत में छेद हो गया.
मध्य प्रदेश में भी तीन आतंकी गिरफ्तार
एमपी पुलिस ने घटना की जांच शुरू की तो पांच संदिग्धों पर शक की सुई गई. इनमें से तीन को एमपी के पिपरिया से ही एक बस से गिरफ्तार कर लिया गया. दो संदिग्धों के यूपी में होने की खबर आई. आरोपियों के ISIS से जुड़े होने की खबर है.

-उज्जैन में हुए ट्रेन ब्लास्ट में पकड़े गए 3 आतंकियों के खुलासे के बाद इटावा, कानपूर और उन्नाव से 3 अन्य आतंकियों फैज़ान, इमरान और फैज़ल को ATS ने गिरफ्तार किया है. सभी आतंकी आईएसआईएस खुराशान के लखनऊ-कानपुर मॉड्यूल के सदस्य हैं.

कानपुर से भी एक संदिग्ध गिरफ्तार
इनपुट के आधार पर पुलिस ने एक संदिग्ध को कानपुर से गिरफ्तार किया. केरल पुलिस से यूपी पुलिस को इनपुट मिला की पांचवां संदिग्ध लखनऊ के ठाकुरगंज की हाजी कॉलोनी में एक घर में छुपा है.
किराए पर रह रहा था सैफुल्ला
पुलिस जब इस घर में पहुंची तो पता चला की सैफुल्लाह नाम का शख्स यहां किराए से रहता है. जिस घर में वो था उसका मालिक बादशाह है, जो सऊदी अरब में रहता है.

यूपी के तमाम शहरों में अलर्ट
यूपी के तमाम शहरों में पुलिस हाईअलर्ट पर आ गई है. वाराणसी जैसे वे इलाके जहां बुधवार को वोटिंग होनी है, वहां और ज्यादा ऐहतियात बरती जा रही है.
ट्रेन में ब्लास्ट एक ट्रायल!
एमपी पुलिस का दावा है कि मंगलवार सुबह ट्रेन में जो ब्लास्ट हुआ वो दरअसल आईईडी से किया गया था. हालांकि उसकी तीव्रता कम थी जिसकी वजह से बड़ी जनहानि नहीं हुई. पुलिस के मुताबिक ये धमाका दरअसल एक ट्रायल था और आतंकियों की योजना एक बड़े बम ब्लास्ट की थी.

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट
पहले ट्रेन धमाका और फिर आतंकियों की गिरफ्तारी से केंद्रीय गृहमंत्रालय भी हरकत में आ गया है. उसमें राज्य सरकार से इस पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की है

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s